शहरी बुनियादी ढांचे को विकसित करने को लेकर बैठक

 | 
uk

Vivratidarpan.com देहरादून। ऋषिकेश के शहरी बुनियादी ढांचे को विकसित करने के संबंध में जिलाधिकारी डॉ0 आर राजेश कुमार की अध्यक्षता में कार्यदायी संस्था उत्तराखण्ड अर्बन सैक्टर डेवलपमेन्ट एंजेसी (यू.यू.एस.डी.) एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक हुई। बैठक के प्रारंभ में कार्यक्रम निदेशक यू.यू.एस.डी. द्वारा जिलाधिकारी को ऋषिकेश के शहरी बुनियादी ढांचे यथा वाटर सप्लाई, सेनिटेशन, यातायात, ड्रेनेज, पार्किंग आदि को विकसित करने हेतु बनायी गयी कार्य योजना की प्रजेन्टेशन के माध्यम से विस्तारपूर्वक अवलोकन कराया गया।
बैठक में जिलाधिकारी डॉ0 आर राजेश कुमार ने संबंधित कार्यदायी संस्था यू.यू.एस.डी. के अधिकारियों को ऋषिकेश के विकास हेतु तैयार की गई कार्य योजना के क्रियान्वयन से पूर्व स्टैक होर्ल्डस, स्थानीय जनप्रतिनिधि, निवासी आदि से भी सुझाव प्राप्त के निर्देश दिए। इसके लिए उन्होंने पब्लिक कंसंल्टेशन पोर्टल बनाकर उसमें जनमानस से सुझाव एवं जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दिये। कहा कि पोर्टल वेबसाइट के बारे में समाचार पत्र में प्रचार प्रसार करेे। उन्होने कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को कार्य योजना के संबंध में स्टैक होर्ल्डस एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर सुझाव प्राप्त करने के भी निर्देश दिये। कहा कि योजना को धरातल पर उतारने के लिए चरणबद्ध तरीके से योजना बनाकर कार्य करें। साथ ही कहा कि सुगम एवं व्यवहारिक कार्य को प्राथमिकता के आधार पर किया जाए। जिससे स्थानीय जनमानस को लाभ मिल सकें। उन्होंने कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को निर्माणधीन साइट पर जाकर वस्तुस्थिति से अवगत होने तथा योजनाएं को संबधित क्षेत्र की आवश्यकता एवं उपयोगिता के अनुसार बनाए जाने के निर्देश दिए ताकि योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ वहां के निवासियों को मिलें। उन्होंने यू.यू.एस.डी. के अधिकारियों को निर्देश दिए कि योजनाओं के संबंध में संबंधित यूजर एजेंसी/विभाग से बैठक कर योजनाओं के व्यवहारिक उपयोग की समीक्षा करें। उन्होंने कहा कि सफल योजनाओं के अवलोकन के साथ ही जो योजनाएं इतनी सफल नहीं हो पाई उनके असफल रहने के कारणों का भी अध्ययन करें ताकि वह गलतियां अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन में रहेें। उन्होंने कहा कि योजनाओें के कार्यों को स्टैप वाईस बांटते हुए लक्ष्य निर्धारित करें ताकि धरातल पर कार्य दिखें और जनमानस को निर्माण कार्यों के दौरान परेशानियों का सामना करने पड़े। बैठक में पुलिस अधीक्षक यातायात अक्षय कोंडे, कार्यक्रम निदेशक यू.यू.एस.डी. विनय मिश्रा, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी अरविन्द पाण्डेय, सहायक अभियन्ता राष्ट्रीय राजमार्ग लोनिवि डोईवाला शिव सिंह रावत एवं यू.यू.एस.डी. के अधिकारियों सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।