ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन ने कहा महिलाओं व बच्चियों अपराध बंद हो

 | 
pic

Vivratidarpan,com भोपाल - ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन के द्वारा महिलाओं बच्चियों पर बढ़ते अपराधों व शराब, अश्लीलता, अपसंस्कृति के खिलाफ एक राज्यस्तरीय कन्वेंशन आयोजित किया गया, जिसमें  प्रदेश के विभिन्न जिलों से महिला प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

ग्वालियर जिला सचिव भूमिका पवार ने प्रथम वक्ता के रूप में प्रदेश में महिलाओं के हालात पर रोशनी डाली। कार्यक्रम की मुख्य वक्ता संगठन की अखिल भारतीय सचिव मंडल सदस्य  व मध्य प्रदेश राज्य सचिव श्रीमती रचना अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान हालात बहुत ही भयावह व दमघोंटू हैं। एक तरफ तो आम आदमी महंगाई, बेरोजगारी, निजीकरण के कारण आर्थिक मार झेल रहा है, दूसरी ओर सामाजिक सांस्कृतिक माहौल भी अत्यंत बदहाल स्थिति में है। उन्होंने कहा यह सब आपस में जुड़ा हुआ है। वर्तमान में हमारी सरकारें देश के कारपोरेट घरानों को पूंजीवाद साम्राज्यवाद के अपरिहार्य आर्थिक संकट के दौर से बचाने की कोशिश में संपूर्ण आर्थिक बोझ आम जनता के ऊपर डाल रही है, इसलिए जहां एक तरफ सभी आवश्यक सेवाओं व सार्वजनिक उपक्रमों का निजीकरण किया जा रहा है श्रम कानूनों में बदलाव कर सरकारी स्थाई नौकरियां खत्म कर ठेका व्यवस्था लागू कर दी है। निजी कंपनियों को हर आवश्यक वस्तु के दाम असीमित रूप से बढ़ाने की छूट दे दी गई है। महंगाई और बेरोजगारी से हाहाकार करती जनता आंदोलन में उतर रही है अगर लोगों की नैतिक रीढ़ मजबूत रहे तो वह शासक के खिलाफ खड़े होंगे यह शासक भी जानते हैं इसलिए नैतिक रीढ पर हमला तेज किया गया है। इसलिए सरकार ऐसी शराब नीति लाई है कि शराब पीने वालों की संख्या में वृद्धि हो। महिलाओं पर अपराध रोकने की नीयत सरकार की नहीं है इसलिए समाज के विवेकशील लोकतांत्रिक चिंतन रखने वाले नागरिक,छात्र ,नौजवानों व महिलाओं को ऐसी कमेटियों का गठन करना होगा जिसके जरिए एक मजबूत दीर्घकालीन आंदोलन खड़ा किया जा सके। और सरकारों को जनहित में नीतियां बनाने के लिए विवश किया जा सके।

इस कन्वेंशन में वर्तमान आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक स्थिति व महिलाओं की दशा पर एक प्रस्ताव पारित किया गया जिसे गुना जिला सचिव निहारिका सिंह ने पढ़ा। इसके समर्थन में भोपाल जिला सचिव आरती शर्मा ने बात रखी व समर्थन किया। प्रदेश के अलग-अलग जिले से आई हुई महिला प्रतिनिधियों ने भी अपने विचार इस कन्वेंशन में रखें। अंत में कार्यक्रम की अध्यक्षा व संगठन की राज्य अध्यक्ष श्रीमती जोली सरकार ने अध्यक्षीय भाषण देते हुए सरकार की तमाम जनविरोधी, महिला विरोधी और अपराधों को बढ़ाने वाली नीतियों का विरोध किया और सभी प्रतिनिधियों से आह्वान किया कि इस कन्वेंशन के संदेश को पूरे प्रदेश में फैलाएं और आंदोलन को तीव्र गति से बढ़ाया जाए। कार्यक्रम का संचालन संगठन की सचिव मंडल सदस्या भावना दीक्षित ने किया । कार्यक्रम में भोपाल जिले की अध्यक्ष श्रीमती रितु श्रीवास्तव ने आभार व्यक्त किया। समूचे कार्यक्रम की संयोजक आरती शर्मा रही।