बेटी मेरी - गुरुदीन वर्मा

 | 
pic

गौरव है मेरा, बेटी मेरी।

मेरी शान है , बेटी मेरी।।

बसी है मेरी जान , मेरी बेटी में।

जीवन है मेरा, बेटी मेरी।।

गौरव है मेरा-------------------।।

देखा था सपना, मैंने जीवन में।

आये  एक बेटी ,मेरे आँगन में ।।

साकार सपना , मेरा हो गया ।

मेरी दुहा है , बेटी मेरी।।

गौरव है मेरा------------------।।

रोशन मेरा नाम, करेगी बेटी।

मेरा सिर ऊंचा , रखेगी बेटी।।

बनेगी सहारा , मुसीबत में मेरा।

रोशनी है घर की , बेटी मेरी।।

गौरव है मेरा----------------------।।

यह दौलत मेरी , मेरा यह घर।

बेटी का ही है , हक इन पर।।

नहीं कम बेटे से , मेरे लिए बेटी।

वारिस है मेरा , बेटी मेरी।।

गौरव है मेरा---------------------।।

नहीं दूर मुझसे , होगी मेरी बेटी।

नहीं है पराई, मेरे लिए बेटी।।

मेरे घर का गुलशन, सितारा है बेटी।

सच में मिहीका है , बेटी मेरी ।।

गौरव है मेरा----------------------।।

- गुरुदीन वर्मा आज़ाद

तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

मोबाईल नम्बर- 9571070847