जहरीली शराब ने कहर बरपाया, अलीगढ़ में जहरीली शराब से 8 मौत

 | 
national

Vivratidarpan.com अलीगढ़, उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में एक बार फिर से जहरीली शराब ने कहर बरपाया है। दो थाना इलाकों में दो ट्रक ड्राइवर समेत 11 लोगों की मौत हो गई है। जबकि 12 लोग अभी अस्पताल में भर्ती हैं। इनमें से कई की आंखों की रोशनी जाने की बात सामने आ रही है। वहीं, सीएम ने मामले का संज्ञान लिया है और दोषियों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।मामला अलीगढ़ जिले के लोधा थाना इलाके के करसुआ, निमाना, हैवतपुर और अंडला गांव का है। बताया जा रहा है कि जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर आईओसी का गैस बोटलिंग प्लांट है। प्लांट के ठीक सामने करसुआ और अंडला गांव हैं। दोनों गांवों में एक ही ठेकेदार के दो छोटे ठेके हैं। गुरुवार को लोगों ने यहां से शराब खरीदकर पी थी। शराब पीने के बाद अचानक लोगों की तबीयत बिगड़ने लगी। जिससे अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है। जिनमें दो ट्रक ड्राइवर शामिल हैं। शराब पीने से करीब पांच लोगों की आंखों की रोशनी चली गई है। जबकि 11 लोग अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं। वहीं, अलीगढ़ के ही जवां थाना इलाके के गांव छेरत में भी तीन लोगों की मौत हो गई है। पुलिस मौके पर पहुंच गई है और जांच में जुटी है। वहीं, हैवतपुर और अंडला गांव में घटना के बाद से ग्रामीणों में खासा रोष है। घटनास्थल पर पुलिस अधीक्षक सिटी और जिलाधिकारी समेत एसडीएम रंजीत सिंह, जिला आबकारी अधिकारी व वन अधिकारी भी पहुंचे। ग्रामीणों की मौत की खबर मिलने पर डीआईजी अलीगढ़ घटनास्थल पर पहुंचे। अधीनस्थ अधिकारियों और ग्रामीणों से वार्ता कर घटना की जानकारी ली। इसके अलावा एडीएम सिटी राकेश कुमार मालपाणी जिला अस्पताल पहुंचे यहां उन्होंने इलाज के लिए लाए गए लोगों का हालचाल जाना। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह का कहना है कि दो थाना इलाकों में शराब से 11 लोगों की मौत हुई है। लोधा थाना इलाके में आठ और जवां थाना इलाके में तीन लोगों की मौत हुई है। डीएम ने कहा कि जिन मृतकों के पोस्टमार्टम हो रहा है उनकी मौत ही शराब कांड में गिनी जाएगी। एडीएम प्रशासन मजिस्ट्रेट जांच करेंगे। शाम तक बड़ी कार्रवाई होगी, शासन के सम्पर्क में हैं। डीएम चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि शराब की दुकान के लाइसेंस के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो रहा है। उत्तर प्रदेश के गृह विभाग को लगातार इसकी अपडेट दी जा रही है।